• Mon, 10 May, 2021
अमेरिका में फेडएक्स के परिसर में गोलीबारी, चार सिखों समेत आठ लोगों की मौत

राष्ट्रीय

Updated Sat, 17 Apr 2021 13:14 IST

अमेरिका में फेडएक्स के परिसर में गोलीबारी, चार सिखों समेत आठ लोगों की मौत

वाशिंगटन: अमेरिका के इंडियाना राज्य में ‘फेडएक्स’ कंपनी के एक परिसर में गोलीबारी की घटना में सिख समुदाय के चार लोगों समेत कम से कम आठ की मौत हो गई और कई अन्य लोग घायल हो गए।
मृतकों में तीन सिख महिलाएं शामिल हैं। इस घटना से स्तब्ध सिख समुदाय के लोगों ने नस्ली घृणा से प्रेरित अपराध और हिंसा की बढ़ती घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से अपील की है।
बंदूकधारी हमलावर की पहचान इंडियाना के 19 वर्षीय ब्रेंडन स्कॉट होल के रूप में की गई है, जिसने इंडियानापोलिस में स्थित फेडएक्स कंपनी के परिसर में बृहस्पतिवार देर रात गोलीबारी करने के बाद कथित तौर पर खुद को गोली मार ली।
होल, 2020 में फेडएक्स का कर्मचारी था।
संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) ने शुक्रवार को बताया कि पिछले साल होल की मां ने एजेंसी को फोन करके कहा था कि उनका बेटा आत्मघाती कदम उठा सकता है जिसके बाद एफबीआई ने होल से पूछताछ की थी।
डिलीवरी सेवा प्रदाता कंपनी के इस परिसर में कार्यरत 90 प्रतिशत से अधिक कर्मचारी भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक बताए जाते हैं, जिनमें ज्यादातर सिख समुदाय के हैं।
सिख समुदाय के नेता गुरिंदर सिंह खालसा ने फेडएक्स परिसर के कर्मचारियों के परिजनों से मुलाकात करने के बाद फोन पर ‘पीटीआई’ से कहा, “यह बेहद दुखद है। इस त्रासद घटना से सिख समुदाय आहत है।”
मारियन काउंटी कोरोनर कार्यालय और इंडियानापोलिस मेट्रोपोलिटन पुलिस विभाग (आईएमपीडी) ने शुक्रवार देर रात मृतकों के नाम का खुलासा किया। मृतकों में सिख समुदाय के अमरजीत जोहल (66), जसविंदर कौर (64), अमरजीत (48) और जसविंदर सिंह (68) शामिल हैं। अन्य मृतकों में कार्ली स्मिथ, एलक्जेंडर मैट, समारिया ब्लैकवेल और जॉन वाइट शामिल हैं।
सिख समुदाय के एक अन्य व्यक्ति हरप्रीत सिंह गिल (45) को आंख के पास गोली लगी और अभी वह अस्पताल में है।
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने इस त्रासद घटना पर शोक व्यक्त किया है।
बाइडन ने एक वक्तव्य में कहा, “होमलैंड सिक्योरिटी की टीम ने मुझे और उपराष्ट्रपति हैरिस को इंडियानापोलिस में फेडएक्स परिसर में हुई गोलीबारी की घटना की जानकारी दी है, जहां रात के अंधेरे में अकेले बंदूकधारी ने आठ लोगों की जान ले ली और कई लोगों को घायल कर दिया।”
अमेरिका के दौरे पर आए जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने व्हाइट हाउस में बैठक की शुरुआत में मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।
उन्होंने कहा, “निर्दोष नागरिकों के साथ हिंसा नहीं होनी चाहिए। स्वतंत्रता, लोकतंत्र, मानवाधिकार और कानून का राज ऐसे वैश्विक मूल्य हैं, जो हमें जोड़ते हैं और जो हिंद-प्रशांत क्षेत्र में कायम हैं।”
बाइडन ने मृतकों के सम्मान में व्हाइट हाउस तथा अन्य संघीय इमारतों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुकाने का आदेश दिया है।
खालसा ने कहा कि समुदाय के नेता अधिकारियों के संपर्क में हैं।
उन्होंने कहा, “9/11 के बाद से सिख समुदाय ने बहुत कुछ झेला है। अब वह समय आ गया है जब इस प्रकार की गोलीबारी की घटनाओं को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाएं। अब बहुत हो चुका।”
इंडियाना में सिख समुदाय के लगभग 10 हजार लोग रहते हैं।
उपराष्ट्रपति हैरिस ने संवाददाताओं से कहा, “हमारे देश में ऐसे परिवार हैं जो हिंसा के कारण अपने परिजनों को खो चुके हैं। इस हिंसा का अंत होना चाहिए। हम उन परिवारों के प्रति चिंतित हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है।”
बताया जा रहा है कि घटनास्थल पर पुलिस के आने से पहले हमलावर ने खुद को गोली मार ली।
फेडएक्स ने इसकी पुष्टि की है कि उक्त हमलावर इंडियानापोलिस में कंपनी का पूर्व कर्मचारी था।
अमेरिका में स्थित भारतीय दूतावास ने इस घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।
शिकागो में भारतीय महावाणिज्य दूत अमित कुमार ने इंडियानापोलिस के मेयर जो होगसेट से बात की जिन्होंने हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया है।

भारतीय दूतावास की ओर से शुक्रवार को जारी बयान में कहा गया, “हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और यथासंभव सहायता देने को तैयार हैं।”